page contents

Kutch Museum Full Information – अगर आप कच्छ घूमने आ रहे हो तो गुजरात के सबसे पुराने संग्रहालयों में से एक कच्छ म्यूजियम आना न भूलें। आज हम इस आर्टिकल में गुजरात वही सबसे पुराने कच्छ संग्रहालय की विस्तार से बात करेंगे।

Kutch_Museum full information

Image Credit : Wikipedia

कच्छ म्यूजियम गुजरात राज्य के सबसे पुराने संग्रहालयों में से एक है जो भुज शहर के हमीरसर झील के किनारे बना हुवा है। यह भारत का सबसे पहला ऑनलाइन संग्रहालय है।

यह म्यूजियम यहाँ का लोकल म्यूजियम है जहाँ पर आप यहाँ के लोकल संगीत वाद्य, विभिन्न चित्रों, सिक्कों, कलात्मक नक्कासी, राजा महाराजा के चित्रों का एंटीक कलेक्शन देखने को मिल जायेगा।

Kutch Museum History - कच्छ संग्रहालय का इतिहास..

Khengarji_III- Kutch museum full information

Image Credit : Wikipedia

कच्छ संग्रहालय को शुरू में कच्छ राज्य के महाराजा खेंगरजी तृतीय द्वारा स्थापित स्कूल ऑफ आर्ट्स के एक भाग के रूप में बनाया गया था। इसकी स्थापना 1 जुलाई 1877 को हुई थी।

19 फरवरी 1884 को महाराव खेंगारजी तृतीय के विवाह के समय करीब 5897 नई वस्तुएं उपहार स्वरुप प्राप्त हुई जिनकी प्रदर्शनी के लिए एक नए भवन की आवश्यकता थी। और दूसरी कई वस्तुए जिसकी कीमत करीब 3300 रुपये थी वो संग्रहालय को दे दिए गए थे जिससे एक नयी ईमारत का निर्माण हो सके।

तदनुसार 14 नवंबर 1884 को वर्तमान संग्रहालय भवन की नींव बॉम्बे के गवर्नर सर जेम्स फर्ग्यूसन द्वारा रखी गई थी। इस लिए इस संग्रहालय को गवर्नर जेम्स फर्ग्यूसन के नाम से फर्ग्यूसन संग्रहालय के रूप में जाना जाता था।

2 मंजिलों वाले और इटालिक गौटिक शैली में बने इस संग्रहालय भवन की लागत करीब 32000 रुपये आयी थी। यह संग्रहालय सुन्दर हमीरसर झील के किनारे और नजर बाग जो की एक बगीचा है उसके बिलकुल सामने बना हुवा है।

उस समय इसे राज्य के इंजीनियर – मैक लेलैंड द्वारा डिजाइन किया गया था और स्थानीय बिल्डरों द्वारा निर्मित किया गया था। जिन्हें कच्छ के मिस्टरिस के रूप में जाना जाता था।

यह संग्रहालय सन 1948 तक कच्छ के महाराजाओ के हस्तगत था इस लिए यह संग्रहालय को सिर्फ उनके निजी महेमानो को ही दिखाया जाता था। इस संग्रहालय को सिर्फ कोई त्योहार या केवल महत्वपूर्ण धार्मिक अवसरों पर ही आम जनता के लिए खोला जाता था।

Kutch Museum Full Information

Things to see in museum - म्यूजियम में देखने लायक..

kutch museum full information 01

Image Credit : Wikimedia

म्यूजियम के ग्राउंड फ्लोर पर एक भारतीय हाथी ऐरावत को बनाया गया है। यह ऐरावत मांडवी में 18 वीं शताब्दी में तीर्थंकर की पूजा में तैयार किया गया था। जो लकड़ी का बना हुवा है और उस पर बहोत ही सुन्दर नक्काशी की गई है।

1978 में भारत सरकार ने ऐरावत को दर्शाते हुए एक डाक टिकट भी जारी किया था।

यह संग्रहालय में आपको सिक्के, हथियार, पुराने बर्तन, कपडा, लकड़ी काम, चांदी की वस्तुएं और कई पुरातत्वीय वस्तुए देखने को मिलेगी। 

संग्रहालय में क्षत्रप शिलालेखों का बड़ा संग्रह है। जो पहेली शताब्दी ईस्वी के आस पास का है। खावडा के अंधाऊ गांव में पुराने क्षत्रप छह शिलालेख-पत्थरपाए गए थे। जिन सभी को यहाँ म्यूजियम में लाए गए है जो आज भी संग्रहालय में मौजूद है।

उन्हें रुद्रदामन प्रथम के समय में बनाया गया था । रुद्रदामन प्रथम शताब्दी ईस्वी( 130-150 ) पश्चिमी क्षत्रप वंश का शक शासक था।

तीसरी शताब्दी का एक गुजराती अभिलेखन शिलालेख भी यहाँ पर मौजूद है। जिसमे विलुप्त कच्छी लिपि के उदहारण भी है। 

संग्रहालय में 1948 तक मान्य थी वो कच्छ की स्थानीय मुद्रा कोरिस सिक्कों का भी सुन्दर संग्रह यहाँ मौजूद है।

कच्छ संग्रहालय में करीब 11 विभाग बनाये गए है।

जिसमे पुरातत्व विभाग में विभिन्न प्रकार के पत्थर, कच्छ के विभिन्न तब्बकों को दिखने वाले चित्रों को दिखता है।

एक विभाग संगीत वाद्य को दिखाता है जिसमे मोरचांग, नागफनी और कई सांस्कृतिक वाद्य आप देख सकते हो।

संग्रहालय में एक भाग वहां की आदिवासी संस्कृति को समर्पित है जिसमे प्राचीन कलाकृतियों, शिल्पों और वहां के जनजाति समूहों के बारे में जानकारी दी गई हुई है। 

संग्रहालय के दूसरे विभागों में आप पेंटिंग, हथियार, मूर्तिकला, और कुछ कीमती धातु से बनी वस्तुओं को देख सकते हो।

प्राचीन भारतीय वस्त्रों पर शोध करने के लिए दुनिया भर के कई शोधकर्ता संग्रहालय जाते हैं।

First On Line Museum - पहला ऑनलाइन संग्रहालय..

यह भारत का सबसे पहला ऑनलाइन संग्रहालय है जिसे 2010 में ऑनलाइन बनाया गया। ऑनलाइन संग्रहालय में एक व्यापक डेटाबेस है जिसमें लगभग 600 संग्रह के ग्रंथ और चित्र शामिल हैं।

कच्छ म्यूजियम यहाँ का लोकल म्यूजियम है जहाँ पर आप यहाँ के लोकल संगीत वाद्य, विभिन्न चित्रों, सिक्कों, कलात्मक नक्कासी, राजा महाराजा के चित्रों का एंटीक कलेक्शन देखने को मिल जायेगा। 

में यहाँ पर ऑफिसियल साइट की लिंक दे रहा हूँ जहाँ पर आप को गुजरात में आए सारे संग्रहालयों की पूरी जानकारी मिल जाएगी। अगर आप चाहो तो दी गई लिंक पर जाके उसे विस्तार से देख सकते हो।

ज्यादा जाने :  आर्किओलॉजी संग्रहालय गुजरात 

Kutch Museum Full Information

Kutch museum timings - कच्छ म्यूजियम टाइमिंग्स..

10:00Am – 1:00 Pm & 2:30 Pm – 5:30 Pm.

बुधवार को यह संग्रहालय बंद रहता है।

Kutch museum entry Fee - कच्छ म्यूजियम एंट्री फी..

प्रति व्यक्ति 5 रु

विदेशी पर्यटक : 50 रूपीस

विद्यार्थियों : 2 रूपीस

कैमरा : 100 रूपीस 

विडिओ ग्राफी : 500 रूपीस

How to Reach kutch museum - कच्छ म्यूजियम कैसे पहुंचे..

कच्छ म्यूजियम भुज में आया हुवा है इस लिए आप को यह मिजियम देखने के लिए भुज आना होगा।

संग्रहालय तक पहुँचने के लिए शहर के भीतर बसों, टैक्सी और ऑटो-रिक्शा का लाभ उठाया जा सकता है।

भुज कैसे पहुंचे उसके बारे में मैंने एक पूरा आर्टिकल अलग से लिखा हुवा है जिसे आप पढ़ के कच्छ घूमने के लिए भुज कैसे पहुंचे उसके बारे में विस्तार से जानकारी पा सकते हो।

यहाँ पढ़ें : भुज कैसे पहुंचे

Where to Stay In Bhuj - भुज में कहाँ पर रुकें..

भुज में कई निजी होटल्स आयी हुवी है जहाँ पर आप अपनी जरूरियात के मुताबिक एक अच्छा होटल ढूंढ़ सकते हो। अगर आप हेरिटेज होम्स में रहना चाहते हो तो पास के कुछ गांव जैसे की भिरंडियारा, होड़का, गोरेवाली में आप को मिल जायेंगे।

मैंने कैसे रुके उसके ऊपर एक और आर्टिकल रण उत्सव लिखा है जिसमे मैंने विस्तार से बताया है आप दी गई लिंक पर जाके उसे पढ़ सकते हो।

यहाँ पढ़ें  : रण उत्सव

एक दूसरी लिंक दे रहा हूँ जहाँ आप भुज के आस पास की होटल्स ऑनलाइन चेक कर सकते हो।

make My Triptrivagogoibibo

conclusion - निष्कर्ष..

अगर आप हिस्टोरिकल और कल्चरल चीजें देखने के सौखीन है तो यह म्यूजियम आप के लिए एक बहोत ही यादगार जगह है। साथ में कई और घूमे लायक जगहें भी पास में आई हुई है जहाँ भी जेक आप अपने फॅमिली के साथ क्वॉलिटी समय बिता सकते हो।

Kutch Museum Full Information – मैंने अपने ज्ञान, यहाँ घूमने आये मेरे मित्रों के अनुभव,ऑनलाइन रेफरन्सिस और लोगों के रिव्युस के आधार पर यहाँ पर जानकारी दी हुवी है। अगर आप का कोई सुझाव हो तो जरूर से कमेंट बॉक्स में मुझे बताइये। और अगर आप को यह जानकारी अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों में शेयर कीजिये।

इस आर्टिकल को अपना अमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।


dharmesh

My name is Dharmesh. I would like to travel different known as well as unknown places and same will be share with you in this website for make your journey more easy and enjoyable.

3 Comments

ปั๊มไลค์ · June 10, 2020 at 11:55 pm

Like!! Thank you for publishing this awesome article.

Rann Utsav hindi - travellgroup · April 7, 2020 at 7:41 pm

[…] 13. Kutch Museum-Bhuj – कच्छ संग्रहालय-भुज […]

Best 17 Places must visit in Kutch Gujarat full information - travellgroup · April 7, 2020 at 9:53 pm

[…] पूरा पढ़ें : कच्छ म्यूजियम पूरी जानकारी  […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Translate »