page contents

Mollem National Park – अगर आप इस Covid-19 के बाद गोवा घूमने की सोच रहे हो तो आज हम गोवा के सबसे अच्छे घूमने लायक स्थलों में से एक मोल्लेम नेशनल पार्क के बारे में विस्तार से जानने वाले है।

दोस्तों आइये सबसे पहले हम इस जगह के बारे में थोड़ी ऊपरी जानकारी ले लेते है। 

बाद में जैसे जैसे आप आर्टिकल में आगे बढ़ते जायेंगे वैसे वैसे आप इस जगह के बारे में पूरी तरह जानते जायेंगे।

सबसे पहले अगर आप जगह को ढूंढते हुवे इस आर्टिकल तक पहुंचे है इसका मतलब यह है की आप इस जगह के बारे में थोड़ी बहोत जानकारी रखते है।

फिरभी हमारे वो दोस्तों की जो इस जगह के बारे में ज्यादा जानते नहीं लेकिन जानना चाहते है उसके लिए मैंने यह आर्टिकल को विस्तार से लिखा हुवा है। 

पूरा पढ़ने के बाद आप इस जगह के बारे में पूरा जानने लगेंगे।

इस आर्टिकल में हम इस जगह की जिओग्राफी,क्षेत्रफल,जंगल में आयी हुवी बहोत ही सुंदर जगहें,जंगल में रहने वाले पशु-पक्षी,जंगल तक कैसे पहुंचे? क्या हम जंगल में रुक सकते है? और ऐसी ही दूसरी बहोत सी चीजों के बारे में हम विस्तार से जानेंगे।

तो आइये फ्रेंड्स जल्दी से शुरू करते है।

मोल्लेम नेशनल पार्क कहाँ पर आया हुवा है?

मोल्लेम नेशनल पार्क गोवा राज्य की राजधानी पणजी से करीब 57 किमी की दूरी पर मोल्लेम शहर के पास आया हुवा है। 

राष्ट्रीय राजमार्ग 4A इस जंगल को दो भागों में विभाजित करता है।

Mollem National Park Information - जानकारी

Mollem National Park

Image Credit : Pixabay

यह अभ्यारण्य दक्षिण भारत के गोवा और कर्णाटक राज्य की पूर्वी सीमा पर मोल्लेम गांव के पास आया हुवा एक 240 वर्ग किलोमीटर (93 वर्ग मील) का संरक्षित क्षेत्र है। 

भगवान महावीर मुख्य अभयारण्य है जबकि मोल्लेम मुख्य क्षेत्र है। 

इस अभ्यारण्य को गोवा राज्य के सबसे बड़े अभ्यारण्य का ख़िताब हासिल है जो गोवा के सबसे लोकप्रिय जंगल है।

आप इस अभ्यारण्य में विविध प्रकार के पौधे,पशु और पक्षी की सुंदरता और उनकी चहचहाट का एक कुदरती माहौल जी सकते है।

मॉनसून और तुरंत उसके बाद के समय यह जंगल हरी चुनर ओढ़े मंत्रमुग्ध कर देने वाली दुनिया का निर्माण कर देता है जिसे निहारने और आनंद लेने पुरे देश से प्रवासी यहाँ आते है।

प्रकृति प्रेमी और ट्रेकर्स इस जगह को पैदल चल कर घूमने का पूरा आनंद लेते है।

इस अभ्यारण्य में जैव विविधता के आलावा कई ऐसी जगह आयी हुवी है जो आप के इस सफर को और भी सुन्दर एवं यादगार बना देती है।

इस घने जंगल में देश के सबसे ऊँचे झरनों में से एक दूधसागर झरना, भगवान शिव को समर्पित तांबड़ी सुराला का अविश्वसनीय रूप से सुंदर प्राचीन हिंदू मंदिर और झरना, डेविल्स कैनियन और कई अन्य ऐतिहासिक और धार्मिक स्थल भी ए हुवे है जिसके बारे में हम आर्टिकल में ज्यादा जानेंग।

Mollem National park History - इतिहास

इस वन क्षेत्र को पहले संवैधानिक रूप से मोलेम गेम अभयारण्य के रूप में जाना जाता थ। बाद में 1969 में एक वन्यजीव अभयारण्य घोषित किया गया और इसका नाम बदलकर भगवान महावीर अभयारण्य रख दिया गया।

यह अभयारण्य पश्चिमी घाटी में देखी जाने वाली विशाल जैव विविधता की रक्षा के लिए बनाया गया था।

अभयारण्य का मुख्य क्षेत्र, लगभग 107 वर्ग किलोमीटर भूमि को 1978 में राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था और इसे मोल्लेम राष्ट्रीय उद्यान के रूप में जाना जाता है।

Mollem National park Entry - प्रवेश

अभ्यारण्य में प्रवेश के लिए मोल्लेम चेकपोस्ट मुख्य प्रवेश बिंदु ह। 

जहाँ से आप को सबसे पहले अंदर जाने के लिए टिकट और वाहन परमिट यहीं से प्राप्त करनी पड़ेगी।

अगर आप सिर्फ दूधसागर झरने को देखने के प्लानिंग से आने का सोच रहे हो तो आप दूधसागर के लिए परमिट कोलम टिकट काउंटर से भी ले सकते है जो कोलम स्टेशन के पास स्थित है।

और अगर आप ताम्बड़ी सुरला मंदिर की यात्रा की सोच रहे हो तो बोलकोर्नम चेकपोस्ट से यह परमिट ले सकते है।

अभयारण्य में आरक्षित क्षेत्र का तीन-चौथाई भाग NH4A के दक्षिण में स्थित है। 

यहाँ पर जंगल परिधि के आस पास के गांव सड़को के व्यस्थित नेटवर्क से जुड़े हुवे है।

जो आप को इस पार्क तक पहुँचने में मदद करेंग। 

गोवा के भीतर से जाने वाले लोग पोंडा-धरमबंदोरा-सांकॉर्डेम-सतपाल-बोलकोनम मार्ग ले जा सकते है।

मोल्लेम चेकपोस्ट के करीब एक प्रकृति शिक्षा केंद्र भी आया हुवा है जो मोल्लेम टाउन से 2.5 किमी दूर है।

Best time to Visit in mollem national park

वैसे तो यह अभ्यारण्य पुरे साल प्रकृति प्रेमियों के घूमने के लिए बहोत ही सुंदर जगह है लेकिन बारिश के बाद का मौसम यानि की अक्टूबर से लेकर मार्च का समय यहाँ पर पर्यटन का मौसम होता है इसी लिए यहाँ पर इसी समय प्रवासियों की संख्या भी अधिक होती है।

मॉनसून के दौरान घूमने के लिए यह गोवा की सबसे शानदार जगह है जहाँ पर प्रकृति अपने आंचल में झरनों और कुदरती सुंदरता को संजोये रखती है।

Atmospher - वातावरण

कहीं भी घूमने जाने से पहले आप को उस जगह का और आने वाले कुछ दिनों का वातावरण जान लेना अत्यंत आवश्यक है जिससे आप को किन किन चीजों की जरुरत रहेगी उसकी तयारी कर सको। 

जिससे आप अपनी यात्रा को ज्यादा सुखद कर सको।

में यहाँ पर आप को इस जगह का लाइव वातावरण जानने के लिए एक लिंक दे रहा हूँ जिससे आप यहाँ का वातावरण जान सकते हो।

Mollem National park timings - समय

अभयारण्य सप्ताह के सभी दिनों में सुबह 8 बजे से शाम 5.30 बजे तक खुला रहता है।

टिकट काउंटर दोपहर के 3:30 बजे बंद हो जाता है।

अभ्यारण्य जून से सितम्बर के महीनों में बंद रहता है।

Mollem national park Entry Fees - टिकट

  • Adult : 20/-
  • Children : 5/-
  • Still Cameras : 30/-
  • Video Camera : 150/-
  • Car : 120/-
  • Van/Mini Buses : 250/-

मोल्लेम नेशनल पार्क में कौन से पशु-पक्षी देखने को मिलते है?

वनस्पति :

यह राष्ट्रीय उद्यान लगभग 722 फूलों और पौधों की प्रजातियों का घर है। 

इसकी शानदार वनस्पति उष्णकटिबंधीय सदाबहार,अर्ध-सदाबहार और नम पर्णपाती का मिश्रण है जिसका अर्थ है कि यह पूरे वर्ष भर खिलता है।

पक्षियों :

यह अभ्यारण्य पक्षी प्रेमियों के लिए भी बहोत महत्व रखता है। 

इस जंगल में कई देश और विदेश के पक्षी की कई प्रजातियों को आप देख सकते हो।

तितलियाँ :

इसके आलावा यह पार्क अनेक प्रकार की तितलियों का भी निवास है। 

जहाँ पर आप अनेक प्रजाति की तितलियों को भी देख सकते हो।

प्राणी :

आप यहाँ पर हाथी,तेंदुए,बंगाल टाइगर,ब्लैक पैंथर,चित्तीदार हिरण,जंगली बिल्लियाँ,मलयान विशालकाय गिलहरी,जंगली सूअर,अजगर, कोबरा, भारतीय बाइसन कई अन्य स्तनधारियों को देख सकते हैं। 

इनमें से कुछ प्राणी तभी दिखेंगे जब आप का नसीब बढ़िया हो।

सरीसृप :

इनके आलावा आप यहाँ पर विभिन्न सर्पों और सरीसृपों को भी देख सकते है। 

जिसमे मुख्य रूप से किंग कोबरा और भारतीय बाइसन शामिल है।

How to Reach Mollem National Park ? - मोल्लेम नेशनल पार्क कैसे पहुंचे ?

यह अभ्यारण्य और राष्ट्रीय उद्यान गोवा के पंजिम से लगभग 60 किमी की दूरी पर आया हुवा है। जो गोवा के अन्य हिस्सों से सड़क मार्ग द्वारा अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है।

आप अक्सर निजी और सरकार द्वारा संचालित बसों और वाहनों का उपयोग करके इस पार्क तक पहुँच सकते हो।

यहाँ से सबसे पास का बड़ा शहर कुलेम है जो यहाँ से करीब 5.5 किमी की दूरी पर आया हुवा है।

By Air..

यहाँ से सबसे नजदीकी बड़ा हवाई अड्डा गोवा है जो देश के सभी प्रमुख शहरों से अच्छी तरह जुड़ा हुवा है। आप को यहाँ से पार्क तक पहुँचने के लिए ट्रैन,बस,टेक्सी मिल जाएगी।

By Train..

पार्क के लिए निकटतम रेल्वे स्टेशन कुलेम है जहाँ से आप टेक्सी करके यहाँ तक पहुँच सकते है और अगर आप ट्रैकिंग के सौखीन है तो पैदल चलकर भी यहाँ तक पहुँच सकते है और इस सुंदर कुदरती सुंदरता का आनंद उठा सकते है।

अमरावती एक्सप्रेस, गोवा एक्सप्रेस, मेल एक्सप्रेस और पूर्णा एक्सप्रेस कुछ ऐसी ट्रेनें हैं जो यहाँ रुकती हैं।

मोल्लेम नेशनल पार्क से करीब 15 किमी की दूरी पर ही भारत से सबसे ऊँचे झरनों में से एक दूधसागर वॉटरफॉल आया हुवा है। 

वहां तक पहुँचने के लिए एक आर्टिकल मैंने विस्तार से लिखा हुवा है आप उसे जरूर पढ़िए। जिससे पढ़ने के बाद आप मोल्लेम नेशनल पार्क तक कैसे पहुंचे वह भी जान जायेंग। 

लिंक में निचे दे रहा हूँ।

ज्यादा पढ़ें : दूधसागर फॉल कैसे पहुंचे ?

मोल्लेम नेशनल पार्क के अंदर देखने लायक सुंदर जगहें कौन सी है?

गोवा के इस अभ्यारण्य और राष्ट्रीय उद्यान में कई अच्छी देखने लायक जगह आयी हुई है जो प्रवासियों को हर साल बड़ी मात्रा में आकर्षित करती है। जैसे की..

Dudhsagar Falls

दूधसागर झरने का शाब्दिक अर्थ सागर का दूध होता है जो कॉलम ग्राम से 10 किमी (6.2 मील) की दूरी पर पार्क के दक्षिण-पश्चिम भाग में कर्नाटक की सीमा पर मंडोवी नदी पर स्थित है।

310 मीटर (1,020 फीट) पर, यह गोवा का सबसे ऊंचा झरना है, जो भारत का पांचवा सबसे ऊँचा और दुनिया का 227 वाँ है।

दूधसागर झरने के पास कई एडवेंचर कंपनियां आयी हुई है जो यहाँ पर आप को बाइक सफारी,तीरंदाजी,हाथी की सवारी,कयाकिंग,ट्रेक,हाइकिंग वगैरा एक्टिविटी कर सकते हो।

यहाँ पर पहुँचने के लिए आप पार्क के अंदर एक जीप सफारी ले सकते हो जो प्रति व्यक्ति 400 /- के करीब का चार्ज करते है।

आप अपना निजी वाहन केवल दूधसागर झरने के काउंटर तक ले जा सकते है जहाँ से आप को अंदर जाने के लिए दूधसागर जलप्रपात संचालक संघ की टेक्सी किराये पर लेनी पड़ेगी।

निजी वाहनों को अंदर जाने की अनुमति नहीं है। याद रखें कि मानसून में वाहनों का आवागमन बंद हो जाता है।

मैंने दूधसागर फॉल्स के बारे में विस्तार से एक दूसरा आर्टिकल लिखा हुवा है जिसे आप निचे दी गयी लिंक पर जाके पढ़ सकते है।

Read more : दूधसागर वॉटरफॉल

Tambdi Surla Temple

इस राष्ट्रीय उद्यान के उत्तरी क्षेत्र में भगवान महादेव का 12 वीं शताब्दी का छोटा लेकिन उत्कृष्ट मंदिर आया हुवा है जो कि पार्क के उत्तरी क्षेत्र में सिंगल लेन की पक्की सड़क के पिछले हिस्से से 13 किमी (8.1 मील) पूर्व में बोलकोर्नम गाँव में स्थित है।

मंदिर में गर्भगृह, अंतरा और बेसाल्ट से निर्मित नंदी मंडप हैं। 

चार खंभे, हाथी और जंजीरों के जटिल नक्काशी से अलंकृत एक पत्थर की छत का समर्थन करते हैं जो अष्टकोन किस्म के बारीक नक्काशीदार कमल के फूलों से सजाया गया है।

यह मंदिर मुस्लिम और पुर्तगाली आक्रमणों के समय भी बचा रह गया जो आज भी गोवा की विरासत को समेटे खड़ा हुवा है।

Tambdi Falls

ताम्बड़ी सुरला मंदिर के दक्षिण-पश्चिम में दो किलोमीटर की दूरी पर ताम्बडी फॉल है।

हालांकि यह झरना दूधसागर जितना शानदार तो नहीं है और उतना बड़ा भी नहीं है इस लिए यहाँ पर प्रवासियों की भीड़ भी काम ही होती है लेकिन एकांत प्रेमियों के लिए यह जगह भी बहोत अच्छी है।

लेकिन यहाँ पर चट्टानें थोड़ी खड़ी है जिसकी वजह से यह स्थान पर आप को ज्यादा सँभालने की जरुरत रहेगी।

यहाँ का रास्ता घुमावदार और अनियमित होने की वजह से यहाँ पर पहुंचना कठिन है। अगर आप यहाँ पर जाना चाहते हो तो एक स्थानीय गाइड साथ में रखना बहेतर रहेगा।

Sunset Point

पार्क में आया हुवा यह स्थान सूर्यास्त देखने के लिए सबसे अच्छा स्थान है। 

यहाँ का मनोरम दृश्य आप को एक अलग ही शांति की और ले जायेगा।

कई होटल अपने टूर पैकेज में अपने प्रवासियों को इस स्थान पर ले जाते है।

Devils Canyon

भगवान महावीर सैंटुरी में मोलेम के पास स्थित डेविल्स कैनियन अब गोवा में एक प्रसिद्ध स्थान है।

जंगल के एक सुंदर पैच में स्थित मोलेम के पास एक सुरम्य नदी का घाट है जहां नदी बड़ी अशांति के साथ बहती है और ठोस चट्टान में गहरे कण्ठ को काट देती है।

डेविल्स कैनियन व्यूपॉइंट क्षेत्रों का मनोरम दृश्य प्रस्तुत करता है। 

यह जंगली जानवरों के दृश्य या पक्षियों को देखने के लिए सबसे अच्छी जगह है। 

सुबह और देर शाम जंगली जीवों को देखने के लिए सबसे अच्छा समय है। 

बर्ड वाचिंग के अलावा ट्रेकिंग एक और रोमांचक गतिविधि है। 

यदि आप अभयारण्य के अंदरूनी हिस्सों में जाना चाहते हैं तो आपको जीप भी मिल जाएगी।

Mollem national link Official Link

Conclusion-निष्कर्ष

Mollem National Park – यह आर्टिकल मैंने अपने खुद के अनुभव और मेरे दोस्तों के अनुभव से लिखा हुवा है।

अगर आप मोल्लेम नेशनल पार्क के बारे में और भी ज्यादा जानकारी रखते हो तो यहाँ पर कमेंट बॉक्स में जरूर से शेयर कीजिये जिससे यहाँ पर घूमने आने वाले यात्रिको को मोल्लेम नेशनल पार्क के बारे में और भी अच्छी जानकारी मिल सके जो हमारा इस आर्टिकल लिखने का मुख्य उदेश्य भी है।

अगर आप को यह आर्टिकल में दी गयी जानकरी उपयोगी लगी हो तो एक लाइक करना न भूलें और अपने दोस्तों में जरूर से शेयर कीजिये। 

और मेरी इस वेबसाइट को नोटिफिकेशन बेल दबाके जरूर से सब्सक्राइब कर लीजिये जिससे आगे आने वाले ऐसे और भी कई आर्टिकल का नोटिफिकेशन आप को मिल सके और मुझे और ज्यादा अच्छे आर्टिकल लिखने की प्रेरणा मिले।

Note : आर्टिकल में दी गयी टिकट की किंमत समय समय पर बदल सकती है। मैंने यहाँ मौजूदा किंमत दी है जिसे में समय समय पर अपडेट करता रहूँगा। फिरभी आप दी गयी किंमत को लगभग किंमत मान कर चलें।

आशा करता हूँ की आप को आर्टिकल में दी गई जानकारी यहाँ पर घूमने आने के समय जरूर से मदद करेगी। 

मेरी दूसरी एक वेबसाइट www.Besttravelproducts.in है जिसमे घूमने जाने की लिए जरुरी सारी चीजें मिलती है जो एक Amazon एफिलिएट वेबसाइट है। 

अगर आप चाहे तो उसे एक बार विसिट कर सकते है।

अपना कीमती समय इस आर्टिकल को देने के लिए आपका धन्यवाद।


dharmesh

My name is Dharmesh. I would like to travel different known as well as unknown places and same will be share with you in this website for make your journey more easy and enjoyable.

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share
Translate »